आंवले की बागवानी से लाखों का मुनाफा: किसान ने कम पानी में बनाई अपनी खेती की कहानी.

भारतीय किसानों को नई तकनीकों और सुधारित खेती के लिए अपनाना एक नया रुझान है। और कम पानी में उच्च मुनाफा कमाने का एक नया मॉडल स्थापित किया है।

आंवले की बागवानी से लाखों का मुनाफा: किसान ने कम पानी में बनाई अपनी खेती की कहानी.
X

आंवले की बागवानी से लाखों का मुनाफा: किसान ने कम पानी में बनाई अपनी खेती की कहानी.

भारतीय किसानों को नई तकनीकों और सुधारित खेती के लिए अपनाना एक नया रुझान है। जयपुर-बस्सी के बैनाडा में एक किसान ने अपनी 10 बीघा जमीन में आंवले की बागवानी से नहीं सिर्फ अपनी किस्मत बदली है, बल्कि उन्होंने प्रदूषण रहित और कम पानी में उच्च मुनाफा कमाने का एक नया मॉडल स्थापित किया है।

बदलते समय में बदलती खेती:

किसान दिलराज बगड़ावत ने पारंपरिक खेती को छोड़कर बागवानी की ओर मोड़ने का निर्णय लिया। इससे पहले, उन्होंने पानी की कमी, मौसम की अनियमितता, और फसल से कम मुनाफा की समस्याओं का सामना किया था।

बागवानी में प्रवेश:

दिलराज ने अपनी जमीन में 600 आंवले के पेड़ लगाने का निर्णय लिया और इसमें कम लागत और कम पानी में खेती करने का लक्ष्य रखा। इस परिवर्तन के बाद से, उनकी किस्तों में हर साल 5 से 7 लाख रुपए तक की फसल हो रही है।

आंवले की बागवानी के फायदे:

यहां कुछ कारगर तथ्य हैं जो दर्शाते हैं कि आंवले की बागवानी के लाभ कितने होते हैं:

लागत 1.30 लाख रुपए

उत्पाद 5 से 7 लाख रुपए हर साल

पौधों की संख्या 600

जमीन का आकार 10 बीघा

इन तथ्यों से स्पष्ट है कि आंवले की बागवानी से किसान ने कम लागत में उच्च मुनाफा हासिल किया है।

सफलता का मॉडल:

दिलराज ने अपने परिसर में बागवानी को बढ़ावा देने के लिए कृषि विशेषज्ञों से सलाह ली और उन्होंने कम पानी वाली फसलों के लाभ और बागवानी के नए तरीकों के बारे में जानकारी प्राप्त की।

किसान को आगे बढ़ने के लिए बेहतरीन रास्ता:

दिलराज बगड़ावत की इस सफलता की कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि किसानों को नए तकनीकों और सुधारित खेती के लिए खुले मन से अपनाना चाहिए। बागवानी एक उत्कृष्ट विकल्प हो सकता है जिससे कम पानी में ज्यादा मुनाफा हो सकता है।

इस सफलता की कहानी से स्पष्ट होता है कि नए और सुधारित खेती के मॉडल्स को अपनाकर किसान अपनी किस्तों में बेहतरीन उत्पादक बन सकता है। आंवले की बागवानी ने दिखाया है कि कम लागत में और कम पानी में खेती करना संभव है और इससे मुनाफा हासिल करना भी संभाव है।

Next Story
Share it