सिरसा के किसान ने बागवानी से कमाया लाखों, जानिए कैसे किया शुरू.

अपनी शुरुआती परंपरागत खेती को आधुनिक तरीके से बदलकर बागवानी में कमाई करने का नया रास्ता खोजा है।

सिरसा के किसान ने बागवानी से कमाया लाखों, जानिए कैसे किया शुरू.
X

सिरसा के किसान ने बागवानी से कमाया लाखों, जानिए कैसे किया शुरू.

सिरसा जिले के एक किसान, चरण सिंह खिचड़, ने अपनी शुरुआती परंपरागत खेती को आधुनिक तरीके से बदलकर बागवानी में कमाई करने का नया रास्ता खोजा है। उनके इस कारनामे के पीछे की कहानी यहां है।

बागवानी का आरंभ:

साल 2007 में शुरू: चरण सिंह खिचड़ ने साल 2007 में अपने १२ एकड़े के खेतों में माल्टा और किन्नू के बाग की शुरुआत की। इससे उन्होंने अपनी आमदनी को बढ़ाने में सफलता प्राप्त की।

आधुनिक तकनीक का उपयोग: उन्होंने बताया कि उन्होंने पौधों की लाइनों में गेहूं, चना, और अन्य फसलों को लगाकर दोहरी प्रकार की खेती करके उबरे हुए हैं।

माल्टा और किन्नू की खोज: उन्होंने खोज की और चुनाव किया कि माल्टा और किन्नू जैसे फलदार पौधों को कैसे लगाया जा सकता है। इससे उन्हें अच्छी कमाई हुई और वे इस प्रयास में सफल रहे।

आमदनी का विवरण:

माल्टा के फल से बड़ी कमाई: उनके अनुसार, माल्टा के बाग से प्रति एकड़ 3 लाख रुपए की कमाई हुई है।

किन्नू से भी उत्कृष्ट राजस्व: उन्होंने बताया कि किन्नू से प्रति एकड़ 1 लाख 70 हजार रुपए की आदान-प्रदान होती है।

सफलता का राज:

परंपरागत खेती में नए तथा आधुनिक तरीके का संयोजन: चरण सिंह खिचड़ ने बताया कि उन्होंने परंपरागत खेती में आधुनिक तकनीक का संयोजन करके खेती की है, जिससे उन्हें सफलता मिली है।

अन्य फलदार पौधों का उपयोग: उन्होंने नहीं सिर्फ माल्टा और किन्नू, बल्कि चीकू, खजूर, बेलपत्र, आडू आदि के फलदार पौधों को भी खेत में लगाकर अपनी कमाई में वृद्धि करने का काम किया है।

आत्मनिर्भरता की ओर कदम:

अनुकूल बाजार विकास: चरण सिंह खिचड़ ने बताया कि उनके गाँव में फलों की मण्डी दूर होने के कारण यातायात खर्च ज्यादा आता है। इसका समाधान हो सकता है अगर वहां एक मंडी और वैक्सिंग प्लांट लगाया जाए। इससे उन्हें अधिक बचत होगी और आत्मनिर्भरता की दिशा में कदम बढ़ाएंगे।

चरण सिंह खिचड़ की यह कहानी दिखाती है कि किसान आधुनिक तकनीक का सही संयोजन करके कृषि में सफल हो सकते हैं। उनकी साधी और सफलता भरी कहानी से हम सभी को सीखने को मिलता है कि अगर हम नए तरीके से सोचते हैं और आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हैं, तो हम अपनी आमदनी में सुधार कर सकते हैं।

Next Story
Share it