कपास के बाद अब गेहूं की फसल पर गुलाबी सुंडी का अटैक, 30 फीसद फसल बर्बाद, किसानों की बढ़ी टेंशन

कपास के बाद अब गेहूं की फसल पर गुलाबी सुंडी का अटैक, 30 फीसद फसल बर्बाद, किसानों की बढ़ी टेंशन
X

अबोहर के गांव दलमीरखेड़ा के दो किसान आज अपनी गेहूं की फसल पर पिंक बॉलवर्म के हमले से बहुत चिंतित नजर आए हैं। उन्होंने कृषि पदाधिकारी के सामने स्प्रे बोतल रखते हुए अपना दुख व्यक्त किया। कर्ज में डूबे किसानों ने अधिकारी के सामने आत्महत्या करने की धमकी भी दी।

फसल पर पिंक बॉलवर्म का खतरा: 40 एकड़ फसल प्रभावित

दोनों किसानों की करीब 40 एकड़ फसल पर पिंक बॉलवर्म के हमले की सूचना मिलने पर कृषि अधिकारी गगनदीप सिंह आज उनके खेतों का निरीक्षण करने पहुंचे। अधिकारी ने बताया कि उनके खेत में करीब 30 फीसदी गेहूं की फसल प्रभावित हुई है, जिसे देखते हुए उन्हें पंजाब कृषि विश्वविद्यालय द्वारा अनुशंसित स्प्रे का छिड़काव करने की सलाह दी गई है।

कर्ज में दबे किसानों ने दी चेतावनी

इस संदर्भ में, गांव दलमीरखेड़ा के किसान सुखदेव सिंह, बख्शीश सिंह, और नछतर सिंह ने बताया कि पिंक बॉलवर्म ने उनकी गेहूं की फसल और बागों को काफी नुकसान पहुंचाया है, जिसके कारण वे कर्ज में डूब गए हैं। और अब उनकी गेहूं की फसल पर भी गुलाबी सूँडी ने हमला कर दिया है और उनकी फसलें बर्बाद हो रही हैं।

बर्बाद फसलों का मुआवजा की मांग

गांव दलमीरखेड़ा में किसानों ने बड़ा संघर्ष करने की धमकी दी है, जिसमें उन्होंने सुझाव दिया है कि अगर उन्हें मुआवजा नहीं मिला तो वे नेशनल हाईवे पर जाम कर देंगे। इसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। उन्होंने यहां तक चेतावनी दी है कि अगर उन्हें मुआवजा नहीं मिला तो वे नेशनल हाईवे पर जाम कर देंगे।

Tags:
Next Story
Share it