एल्पेक्स सोलर का आईपीओ: जानें क्यों निवेशकों को मिल सकता है 140% का फायदा

एल्पेक्स सोलर का आईपीओ: जानें क्यों निवेशकों को मिल सकता है 140% का फायदा
X

एल्पेक्स सोलर का आईपीओ: जानें क्यों निवेशकों को मिल सकता है 140% का फायदा

Khet Khajana, New Delhi: सोलर ऊर्जा के क्षेत्र में एक उभरता नाम एल्पेक्स सोलर है, जो सोलर पैनल्स बनाने वाली कंपनी है। इस कंपनी का आईपीओ (Alpex Solar IPO) 8 फरवरी से 12 फरवरी तक निवेशकों के लिए खुला था। इस आईपीओ में कंपनी ने 64.8 लाख नए शेयर जारी करके 74.52 करोड़ रुपये जुटाए। इस आईपीओ को लोगों से बेहद अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। इसका सबूत यह है कि इस आईपीओ को 323.22 गुना सब्सक्राइब किया गया है। इसका मतलब है कि निवेशकों ने इस आईपीओ के लिए 24,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का दांव लगाया है।

इस आईपीओ का प्राइस बैंड 109 रुपये से 115 रुपये प्रति शेयर के बीच रखा गया था। निवेशकों को कम से कम 1,200 शेयर का लॉट खरीदना था। इसका मतलब है कि निवेशकों को कम से कम 1.38 लाख रुपये का निवेश करना था। इस आईपीओ का शेयर अलॉटमेंट 13 फरवरी को होगा और इसकी लिस्टिंग 15 फरवरी को एनएसई एसएमई प्लेटफॉर्म पर होगी।

एल्पेक्स सोलर का जीएमपी

एल्पेक्स सोलर के शेयर को ग्रे मार्केट में बहुत पसंद किया जा रहा है। ग्रे मार्केट में इस कंपनी के शेयर का ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) 160 रुपये है। यानी कि निवेशकों को इस कंपनी के शेयर के लिए 115 रुपये की जगह 275 रुपये देने पड़ रहे हैं। इसका मतलब है कि इस कंपनी के शेयर को लिस्टिंग के दिन 140 पर्सेंट का फायदा मिल सकता है। ग्रे मार्केट प्रीमियम वह राशि है जो निवेशकों को आईपीओ की कीमत से अधिक देनी पड़ती है शेयर को खरीदने के लिए। ग्रे मार्केट प्रीमियम बाजार की भावनाओं को दर्शाता है और बदलता रहता है।

एल्पेक्स सोलर के बारे में

एल्पेक्स सोलर एक सौर फोटोवोल्टिक (पीवी) मॉड्यूल निर्माता है, जो मुख्य रूप से भारत के उत्तरी क्षेत्र में है। इसके पीवी मॉड्यूल मोनोक्रिस्टलाइन और पॉलीक्रिस्टलाइन सेल प्रौद्योगिकियों दोनों का उपयोग करके निर्मित होते हैं। कंपनी के सौर ऊर्जा उत्पादों के पोर्टफोलियो में निम्नलिखित सौर पीवी मॉड्यूल शामिल हैं:

बाइफेशियल: ये मॉड्यूल दोनों तरफ से सौर ऊर्जा को अवशोषित करते हैं और अधिक उत्पादन करते हैं।

मोनो पर्क: ये मॉड्यूल मोनोक्रिस्टलाइन सेल का उपयोग करते हैं और उच्च दक्षता और लंबी आयु प्रदान करते हैं।

हाफ-कट: ये मॉड्यूल पूरे सेल को आधे में काटकर उपयोग करते हैं और तापीय विघटन को कम करते हैं।

Tags:
Next Story
Share it