आंवले की खेती से किसान हुआ मालामाल! कमा रहा है लाखों रुपए, जानिए बुवाई करने का सही तरीका

आंवले की खेती से किसान हुआ मालामाल! कमा रहा है लाखों रुपए, जानिए बुवाई करने का सही तरीका
X

जब खेती और किसानी की बात होती है, तो आमतौर पर अन्नदाता के सामने कई समस्याएं आती हैं - पानी की कमी, मांसून की ना होने की समस्या और फसल से मुनाफे की गिरावट। लेकिन हमारे प्रदेश में कई किसान हैं जो इन समस्याओं से बचने के लिए पारंपरिक खेती के विकल्पों को छोड़कर बागवानी का रास्ता चुन रहे हैं।

उन्होंने कम लागत में, कम पानी में और अधिक मुनाफे के लिए बागवानी की तरफ मोड़ दिया है। यही स्थिति एक माजरे के पास जयपुर-बस्सी के बैनाडा में भी हुई है, जहां एक किसान की आंवले की बागवानी ने उनकी किस्मत बदल दी है।

किसान ने अपनी 10 बीघा जमीन में 600 आंवले के पेड़ लगाकर हर साल 5 से 7 लाख तक की फसल का उत्पादन किया है। इससे उन्हें काफी मुनाफा हो रहा है और उन्होंने परंपरागत खेती को छोड़कर बागवानी की ओर मोड़ा है। इस बदलाव के बाद से, किसान दिलराज बगड़ावत लखपति बन गए हैं।

दिलराज बगड़ावत ने बताया कि पानी की समस्या बढ़ने से उन्हें परंपरागत खेती-बाड़ी से मुनाफा कम होते देखा और फसल भी कम होने लगी। इसलिए, उन्होंने इस मामले में बदलाव किया और आज उन्हें बागवानी से अच्छा मुनाफा हो रहा है।

किसान ने अवसरों को पहचानकर उन्होंने कृषि विशेषज्ञों से सलाह ली और कम पानी वाली फसलों और बागवानी के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसके बाद, उन्होंने कम लागत और पानी की खर्च कम करने वाले आंवले की खेती का निर्णय लिया और अपनी 10 बीघा जमीन में 600 आंवले के पौधे लगाए। इन पौधों पर कुल लागत उन्हें 1.30 लाख रुपए की पड़ी। इन पेड़ों की तैयारी के बाद, उन्हें हर साल 5 से 7 लाख रुपए की फसल मिल रही है, जिससे उन्हें काफी मुनाफा हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि यह पेड़ काफी बड़े होते हैं. इनमें पानी की लागत बहुत ही कम रहती है और कुछ समय के लिए ड्रिप योजना से इनमें पानी दे दिया जाता है. किसान को कम लागत में इस फसल से भरपूर फायदा मिलता है.

Tags:
Next Story
Share it