Garlic Price Hike: सर्दी आते ही आम लोगों को तगड़ा झटका! लहसुन के दामों में हुई बढ़ोतरी, जानिए ताजा भाव

Garlic Price Hike: सर्दी आते ही आम लोगों को तगड़ा झटका! लहसुन के दामों में हुई बढ़ोतरी, जानिए ताजा भाव
X

Garlic Price Hike: लहसुन की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण, आपको थोड़े समय तक लहसुन की चटनी और लहसुन तड़के जैसे आइटमों से दूर रहने की जरूरत पड़ सकती है। इस साल, लहसुन की फसल में खराबी होने से इसकी कीमतें बढ़ गई हैं। इसके परिणामस्वरूप, आपूर्ति में कमी हो गई है और मांग बढ़ गई है। इससे लहसुन की दामों में वृद्धि हुई है।

थोक व्यापारियों की ओर से लहसुन की खरीदी जा रही है और इससे रसद लागत और स्थानीय शुल्क में वृद्धि हो रही है। महाराष्ट्र में मुंबई के थोक व्यापारियों द्वारा गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान से लहसुन की खरीद पर वृद्धि होने से इसका असर सामान्य लोगों तक भी पहुंच रहा है।

लहसुन की कीमतों में उछाल

लहसुन की कमी के कारण, पिछले कुछ हफ्तों में इसकी कीमत में वृद्धि हुई है। व्यापारिक समुदाय मानता है कि यह स्थिति जल्दी ठीक नहीं होने वाली है। लहसुन की कीमतों में अभी भी कोई गिरावट नहीं देखी जा रही है। उपभोक्ताओं को नए मूल्यों से भी परेशानी हो रही है, क्योंकि पिछले महीने इसे 100-150 प्रति किलोग्राम से अधिक में बेचा जा रहा था, और अब यह 150-250 प्रति किलोग्राम के बीच है। इस परिवर्तन ने रिटेल कीमत को 300 से 400 प्रति किलोग्राम तक बढ़ा दिया है।

कम आ रहे ट्रक

थोक बाजार में लहसुन की आवक कम हो गई है. पहले हर दिन 25 से 30 वाहन लहसुन लेकर आते थे, लेकिन अब केवल 15 से 20 वाहन ही आ रहे हैं. दक्षिणी राज्यों से तो लहसुन की आवक लगभग बंद हो गई है. एपीएमसी व्यापारियों के मुताबिक, ऊटी और मालापुरम से लहसुन की आपूर्ति में भारी गिरावट आई है. इससे महंगाई बढ़ गई है.

क्यों बढ़ रहे दाम

लहसुन की कीमतें बढ़ने की दो वजह हैं. एक वजह है कि मानसून में अच्छी बारिश नहीं हुई, जिससे लहसुन की फसल कम हुई. दूसरी वजह है कि अक्टूबर और नवंबर में बेमौसम बारिश के कारण कई हिस्सों में फसल बर्बाद हो गई. व्यापारियों के मुताबिक, नई फसल को बाजार में आने में अभी समय लगेगा. ऐसे में तब तक कीमतें ऊंची रहने की उम्मीद है.

Tags:
Next Story
Share it