किसानों के लिए खुशखबरी! अब 100 रुपये खर्च कर खेतों में ड्रोन से करें यूरिया का छिड़काव

किसानों के लिए खुशखबरी! अब 100 रुपये खर्च कर खेतों में ड्रोन से करें यूरिया का छिड़काव
X

हरियाणा सरकार ने किसानों को बड़ी खुशखबरी दी है। अब राज्य के किसान सिर्फ 100 रुपये खर्च कर नैनो यूरिया का छिड़काव ड्रोन के माध्यम से कर सकेंगे। यह सूचना हरियाणा सरकार के कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल ने दी। उनके अनुसार, ड्रोन से नैनो यूरिया का छिड़काव करने से फसलों की पैदावार में वृद्धि होगी। इसके साथ ही, खेत में इनपुट लागत में भी कमी आएगी।

लोगों के लिए बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल ने बताया कि कृषि ड्रोन सेवाएं उद्यमी क्षेत्र के किसानों को बेहतर तरीके से पहुंचाएंगी। इसके अतिरिक्त, कृषि ड्रोन युवा उद्यमियों और ग्रामीण महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर भी प्रदान करेंगे। उनके अनुसार, नैनो उर्वरकों का इस्तेमाल किसानों की आय में वृद्धि के लिए एक अच्छा विकल्प है।

ड्रोन का उपयोग खेती के लिए कितनी फायदेमंद

किसी भी फसल में अचानक बीमारी आने पर स्प्रे करना अक्सर मुश्किल था। लेकिन अब ड्रोन के आने से खेती-किसानी में बड़े एरिया में एक साथ छिड़काव किया जा सकता है। इससे दवाइयों की बचत होती है और समय भी बचता है।

पहले किसान समय की कमी के चलते दवाइयों को छिड़कने में असमर्थ थे, जिससे फसलों में कीटनाशकों का इस्तेमाल नहीं किया जा पाता था। ऐसे में, फसलों में कीटों का प्रकोप हो जाता था और फसलें नुकसान उठाती थीं। मगर अब ड्रोन से बड़े क्षेत्र में एक साथ दवा छिड़काव किया जा सकता है।

किसान खुद सब्सिडी पर खरीद सकते हैं ड्रोन

किसान खुद ड्रोन खरीद कर अन्य किसानों के खेतों में यूरिया या फिर कीटनाशक के छिड़काव कर अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. इसके लिए केंद्र सरकार भी सहकारी समिति किसानों, एफपीओ और ग्रामीण उद्यमियों को कस्टम हायरिंग सेंटर द्वारा ड्रोन की मूल लागत के 40% की दर या अधिकतम 4 लाख रुपयों तक की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराती है.

Tags:
Next Story
Share it