Guava Farming: किसानों की हुई मौज! अमरूद की खेती करने पर सरकार दे रही है बंपर सब्सिडी

Guava Farming: किसानों की हुई मौज! अमरूद की खेती करने पर सरकार दे रही है बंपर सब्सिडी
X

बिहार में किसान धान, गेहूं, दलहन, और तिलहन के साथ-साथ बागवानी फसलों की भी बड़े पैमाने पर खेती करते हैं। पटना, गया, नालंदा, दरभंगा, हाजीपुर, मुंगेर, और मधुबनी जैसे कई जिलों में किसानों ने फल और सब्जियों की खेती की है। खासकर इन जिलों में, किसानों ने आम, अमरूद, केला, लीची, सेब, आलू, भिंडी, और लौकी जैसी फसलों की व्यापक खेती की है।

इसके अलावा, उद्यान विभाग ने बेगूसराय जिले में अमरूद के उत्पादन को बढ़ाने के लिए एक महत्त्वपूर्ण योजना तैयार की है। इस योजना के अंतर्गत, अमरूद की खेती शुरू करने वाले किसानों को भारी सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के अंतर्गत, बेगूसराय जिले में अमरूद की खेती करने वाले किसानों को 50 फीसदी सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत जिले में 5 हेक्टेयर में अमरूद की खेती की शुरुआत की जाएगी। जो किसानों के पास कम से कम 25 डिसमिल जमीन हैं, वे सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए किसानों को एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

अमरूद की खेती करने वाले फार्मर्स को 50% सब्सिडी मिलेगी

बता दें कि बेगूसराय जिले में किसान पपीता, आम, केला, और नींबू की बड़ी स्तर पर खेती करते हैं। लेकिन, अमरूद की खेती करने वाले किसानों की संख्या अभी भी जिले में काफी कम है। इसलिए कृषि विभाग ने मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत जिले में अमरूद के उत्पादन को बढ़ाने का प्लान बनाया है और किसानों को 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करने का निर्णय लिया है। किसान रामचंद्र महतो कहते हैं कि अगर सरकार सब्सिडी प्रदान करेगी तो वे अमरूद की खेती जरूर करेंगे।

बेगूसराय जिले में 5555 अमरूद के पौधे लगाए जाएंगे

वहीं, जिला उद्यान पदाधिकारी राजीव रंजन ने कहा कि सरदार अमरूद और इलाहाबादी सफेदा जैसी किस्म के पौधे किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएंगे. उन्होंने बताया अमरूद के बाग में 3×3 की दूरी पर एक पौधा लगाया जाता है. अगर किसान भाई एक हेक्टेयर में खेती करेंगे तो उन्हें 1111 अमरूद के पौधे लगाने पड़ेंगे. वहीं, बेगूसराय जिले में 5555 अमरूद के पौधे लगाने का टारगेट सेट किया गया है.

Tags:
Next Story
Share it