Him Unnati Yojana: मछली पालन पर मिल रही है 80% सब्सिडी, जानिए योजना की पूरी जानकरी

Him Unnati Yojana: मछली पालन पर मिल रही है 80% सब्सिडी, जानिए योजना की पूरी जानकरी
X

भारत सरकार ने कई बेहतरीन योजनाओं की शुरुआत की है, जो देश के किसानों को समृद्धि और सुखद जीवन जीने में मदद करती हैं। हिमाचल प्रदेश सरकार भी इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए 'हिम उन्नत योजना' की शुरुआत की है।

यह योजना प्रदेश के किसानों की आय को बढ़ाने और कृषि गतिविधियों में समृद्धि लाने पर ध्यान केंद्रित करती है। इस योजना के तहत, फल-सब्जी और दूध के क्लस्टर भी तैयार किए गए हैं। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से प्रदेश में मछुआरों को लगभग 80 प्रतिशत तक सब्सिडी की सुविधा देने की योजना बनाई गई है।

सरकार द्वारा 'हिम उन्नत योजना' के अंतर्गत, खेती और बागवानी पर प्रति एकड़ तकरीबन दस हजार रुपये तक के मुआवजे की भी योजना तैयार की गई है।

हिम उन्नत योजना क्या है?/ What is Him Unnat Yojana?

हिमाचल प्रदेश में 'हिम उन्नत योजना' का उद्देश्य किसानों की आय को बढ़ाने के साथ-साथ उत्पादन क्षमता में वृद्धि करना है। इस योजना की शुरुआत 2023 में की गई है, जिसमें प्रदेश में लगभग 2600 क्लस्टर तैयार किए जाएंगे अलग-अलग साझेदारों के साथ। इसके लिए सरकार ने लगभग 25 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है।

मछली पालकों को मिलेगी 80% सब्सिडी

हिमाचल प्रदेश की 'हिम उन्नत योजना' के अंतर्गत, मछली पालकों को उनके उत्पादन में बढ़ोतरी और आय में वृद्धि के लिए लगभग 80 प्रतिशत तक सब्सिडी प्रदान की जा रही है। यह सब्सिडी मछली तालाबों और उनसे जुड़े सभी छोटे और बड़े कार्यों को सम्पन्न करने के लिए किसानों को प्रदान की जा रही है। साथ ही, कृषि और बागवानी के क्षेत्र में प्रति बीघा तक 10,000 रुपये तक मुआवजा भी प्रदान किया जाएगा।

हिम उन्नति योजना की खासियत

दूध, फल-सब्जियों और नकदी फसलों के लिए कलस्टर बनाए जाएंगे.

राज्य में मछली उत्पादन बढ़ाने के लिए 80 प्रतिशत तक सब्सिडी मिलेगी.

कृषि-बागवानी में नुकसान होने पर किसानों को प्रति बीघा 10 हजार रुपये दिए जाएंगे.

Tags:
Next Story
Share it