फूटी कोड़ी ही नहीं मिलेगी, पाई-पाई का हिसाब लूंगा, एक आना भी नहीं मिला, ये शब्द हमे अक्षर सुनने को मिलते है, क्या आप जानते है ये क्यों बोला जाता है ? आइए जानते है ....

फूटी कोड़ी ही नहीं मिलेगी, पाई-पाई का हिसाब लूंगा, एक आना भी नहीं मिला, ये शब्द हमे अक्षर सुनने को मिलते है, क्या आप जानते है ये क्यों बोला जाता है ? आइए जानते है ....
X

फूटी कोड़ी ही नहीं मिलेगी, पाई-पाई का हिसाब लूंगा, एक आना भी नहीं मिला, ये शब्द हमे अक्षर सुनने को मिलते है, क्या आप जानते है ये क्यों बोला जाता है ? आइए जानते है ....

खेत खजाना : नई दिल्ली, देश के कोने कोने में बोले जाने वाले वो शब्द जो इंसान गुस्से में आक्रोशित होकर बोलता है की फूटी कोड़ी ही नहीं मिलेगी, पाई-पाई का हिसाब लूंगा, एक आना भी नहीं मिला । अधिकतर लोगों को इस बात का ज्ञान नहीं की फूटी कोड़ी क्या होती है ? पाई पाई का हिसाब कैसे लिया जाता है ? आना भी नहीं मिला । आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे की ये क्या होती है ।

यह भारत की पुरानी करेंसी है जो पहले के जमाने में 256 दमड़ी का 192 पाई होता था. 191 का 128 धेला और 128 धेले से 64 पैसा. इस 64 पैसे से 16 आना बनता था. इस 16 आने से 1 रुपये बनता था. अब ऐसा नहीं होता क्योंकि दमड़ी, पाई. धेला का जमाना जा चुका है.

Nokia Magic Max Phone : लॉन्च हुआ iPhone का बाप Nokia Magic Max 5G फोन, कैमरा DSLR को दिन में दिखाएगा तारें और बैटरी 7500mAh

लेकिन एक शख्स ने इन पुरानी के बारे में वीडियो जारी कर इन पुरानी करेंसी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है की दमड़ी क्या होती है ? पाई क्या होती है ? धेला क्या होता है ? आना कैसे बनता है ? उस समय से लेकर आजतक के रुपये के बारे में सरल तरीके से समझाया है । आइए जानते है इस वायरल हो रहे वीडियो के माध्यम से ....

यहां देखें वीडियो

फिल्मी स्टाइल में दुल्हन को वरमाला पहना रहा था दूल्हा, तभी दूल्हे से हो गई यह बड़ी मिसटेक, वीडियो देख लोग बोले ‘क्या दूल्हा बनेगा रे तू’ – देखें और हंसें”

Sasur Bahu Love Affair : रात की वो कहानी: बहू-ससुर के बीच टूटी मर्यादा, दोनों के बिच हुआ घमाशान…

Tags:
Next Story
Share it