यूपी में इस जिले की अवैध कालोनियों का हुआ बँटाधार, 200 बीघा कालोनियों पर चला सरकार का पीला पंजा

यूपी में इस जिले की अवैध कालोनियों का हुआ बँटाधार, 200 बीघा कालोनियों पर चला सरकार का पीला पंजा
X

यूपी में इस जिले की अवैध कालोनियों का हुआ बँटाधार, 200 बीघा कालोनियों पर चला सरकार का पीला पंजा

Khet Khajana: New Delhi, यूपी में अवैध निर्माणों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई हुई है। अलीगढ़ विकास प्राधिकरण (एडीए) ने 200 बीघा की अवैध कालोनी को ध्वस्त कर दिया है। इसमें 500 भूखंडों की नींव और 10 बीघा की सड़क को उखाड़ा गया है। इस कालोनी की वर्तमान कीमत लगभग 100 करोड़ रुपये है।

अवैध निर्माण

अवैध निर्माण का मतलब है कि जमीन का मालिक या डीलर ने विकास प्राधिकरण की अनुमति के बिना उस पर निर्माण कर दिया है। इससे न केवल विकास कार्यों में बाधा आती है, बल्कि आवासीय या वाणिज्यिक इकाइयों के लिए आवश्यक सुविधाओं का भी अभाव होता है। अवैध निर्माण से पर्यावरण, यातायात, नाली, बिजली, पानी आदि के मामले में भी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

एडीए की कार्रवाई

एडीए का काम है कि वह शहर के विकास के लिए योजनाएं बनाए और उन्हें लागू करे। इसके लिए वह जमीन का अधिग्रहण करता है और उस पर आवासीय या वाणिज्यिक परियोजनाएं विकसित करता है। एडीए को अपनी जमीन पर किसी भी प्रकार के अवैध कब्जे या निर्माणों को रोकना और हटाना होता है। इसके लिए वह नियमित रूप से जांच-पड़ताल करता है और अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस भेजता है। यदि वे नोटिस का पालन नहीं करते हैं, तो एडीए उनके निर्माण को ध्वस्त कर देता है।

अलीगढ़ में बड़ी कार्रवाई

अलीगढ़ में एडीए ने सोमवार को जवां थाना क्षेत्र के छेरत सुढ़ियाल में बड़ी कार्रवाई की है। यहां पर वासिफ नाम के व्यक्ति ने 200 बीघा क्षेत्रफल में एक कालोनी विकसित कर दी थी। इस कालोनी के 500 भूखंडों की नींव और 10 बीघा की सड़क को उखाड़ा गया है। इस कालोनी की वर्तमान कीमत लगभग 100 करोड़ रुपये है। एडीए ने इस कालोनी को ध्वस्त करने का आदेश पिछले दिनों ही दिया था, लेकिन वासिफ ने कोई ले आउट पास नहीं कराया। इसलिए एडीए ने पुलिस और पीएसी के साथ मिलकर इसे ध्वस्त कर दिया।

Tags:
Next Story
Share it