अब नहीं दिखेंगे खेतों के पास जंगली सूअर, यहां देखिए इन आवारा पशुओं को भगाने का पक्का इलाज, एक बार जरूर आजमाएं

इन जंगली जानवरों के कारण किसानों की खेती-बाड़ी पर असर पड़ रहा है, जिससे उन्हें सामना करना मुश्किल हो रहा है।

अब नहीं दिखेंगे खेतों के पास जंगली सूअर, यहां देखिए इन आवारा पशुओं को भगाने का पक्का इलाज, एक बार जरूर आजमाएं
X


अब नहीं दिखेंगे खेतों के पास जंगली सूअर, यहां देखिए इन आवारा पशुओं को भगाने का पक्का इलाज, एक बार जरूर आजमाएं

जंगली सूअर और नीलगाय के आतंक से किसानों को निपटना आज के समय में एक बड़ी चुनौती बन चुका है। इन जंगली जानवरों के कारण किसानों की खेती-बाड़ी पर असर पड़ रहा है, जिससे उन्हें सामना करना मुश्किल हो रहा है।

खेतों की सुरक्षा के उपाय

नीम की टहनियों से छिड़काव: नीलगाय, बन सूअर या पालतू सूअरों के गिले गोबर का पानी में घोलकर नीम की टहनियों या झाड़ू से खेत के चारों और छिड़काव करें।

रंगीन साड़ियों का उपयोग: खेत के चारों और घेराबंदी के लिए पुरानी रंगीन साड़ियों को बांस के पोल गाड़कर उपयोग करें। इससे जंगली जानवरों को लगेगा कि किसान खेत में काम कर रहा है और वे दूर रहेंगे।

फोरेट रसायन का उपयोग: जंगली सूअरों को भगाने के लिए खेत के चारों और बुरकाव करने के लिए फोरेट रसायन का उपयोग करें। इससे उन्हें बहुत ही बदबूदार गंध मिलेगी और वे दूर रहेंगे।

जंगली सूअर का आहार

जंगली सूअर अपने आहार के लिए खेतों के मक्का, गेहूँ, बाजरा, आलू, सुरन, और अन्य फसलों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा, इन्हें जंगल में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के फल, सब्जियां, झाड़ियां, बीज, और जड़ें भी पसंद होती हैं।

सूअर बेहोश करने की दवा

जिन इलाकों में जंगली सूअर का प्रकोप अधिक है वहाँ के किसान सूअर मारने की दवा का प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए किसान एक्स गार्ड दवा का उपयोग कर सकते है. इससे एक प्रकार की बदबूदार गंध निकलती है जिससे सूअर खेतों से दूर रहते हैं. इसका असर खेतों में 15 से 20 दिन तक रहता है.

जंगली सूअर भगाने की मशीन

जंगली सूअरों से बचने के लिए किसानों को अपने खेतों में जंगली सूअरों को भगाने के लिए मशीन लगाने की आवश्यकता है। जैसे कि "jhatka machine" जो केवल करेंट देती है और जंगली जानवरों को दूर रखती है। इससे प्राणी को कोई चोट नहीं पहुंचती और खेतों की सुरक्षा होती है।

इस तरह, जंगली सूअरों और नीलगायों के हमले से किसान अपनी खेतों की सुरक्षा कर सकते हैं और खेती-बाड़ी में समर्थन प्राप्त कर सकते हैं। इन उपायों को अपनाकर, किसान अपनी मेहनत को सुरक्षित रख सकते हैं और जंगली जानवरों से नुकसान को कम कर सकते हैं।

Tags:
Next Story
Share it