Property Dispute: समय रहते कर कर लें यह काम, कभी नहीं होगा जमीनी विवाद, बहुत कम लोगों को होती है इस नियम की जानकारी

Property Dispute: समय रहते कर कर लें यह काम, कभी नहीं होगा जमीनी विवाद, बहुत कम लोगों को होती है इस नियम की जानकारी
X

Property Dispute: समय रहते कर कर लें यह काम, कभी नहीं होगा जमीनी विवाद, बहुत कम लोगों को होती है इस नियम की जानकारी

Khet Khajana, New Delhi: जमीन विवाद एक ऐसी समस्या है जो भारत में कई लोगों को परेशान करती है। जमीन विवाद में अक्सर अवैध कब्जे, अतिक्रमण, फर्जी दस्तावेज, धोखाधड़ी, वंशानुगत अधिकार आदि के मामले शामिल होते हैं। जमीन विवाद से न केवल व्यक्तिगत संपत्ति की सुरक्षा पर खतरा पड़ता है बल्कि सामाजिक शांति और न्याय की व्यवस्था पर भी असर होता है।

जमीन विवाद से बचने के लिए कुछ आसान और प्रभावी उपाय हैं जिनका पालन करके आप अपनी जमीन या प्रॉपर्टी को सुरक्षित रख सकते हैं। इन उपायों में से कुछ निम्नलिखित हैं:

जमीन खरीदने से पहले उसकी जायजता, शुद्धता और मालिकाना हक की जांच करें। जमीन के दस्तावेजों को विशेषज्ञों द्वारा वेरिफाई करवाएं और उनकी फोटोकॉपी अपने पास रखें।

जमीन का रजिस्ट्रेशन और स्टाम्प ड्यूटी का भुगतान अवश्य करें। रजिस्ट्रेशन के बाद जमीन का खतौनी, खसरा, नक्शा और अन्य जरूरी दस्तावेज अपने पास संभाल कर रखें।

जमीन के चारों ओर बाड़ या बाउंड्री वॉल बनवाएं और भू-स्वामी के तौर पर अपना नाम दर्शाने वाला बोर्ड लगाएं। इससे अतिक्रमणकारियों को स्पष्ट संदेश मिलेगा कि ये जमीन किसी की पर्सनल प्रॉपर्टी है।

जमीन के आस-पास के अन्य प्लॉट मालिकों के साथ मिलकर एक एसोसिएशन बनाएं और उसका पंजीकरण करवाएं। यह एसोसिएशन न केवल सामूहिक सुरक्षा प्रदान करेगा बल्कि स्थानीय अधिकारियों और प्रशासन के साथ मुद्दों को उठाने में भी मदद करेगा।

जमीन की देखरेख के लिए चौकीदार को नियुक्त करें और यदि संभव हो तो उचित दस्तावेजों के साथ किरायेदार रखें। यह सुनिश्चित करेगा कि जमीन पर निगरानी बनी रहे और अवैध अतिक्रमण की संभावना कम हो।

इन उपायों के अलावा भी आप अपनी जमीन या प्रॉपर्टी को सुरक्षित रखने के लिए कुछ और बातों का ध्यान रख सकते हैं। जैसे कि:

जमीन के दस्तावेजों को नियमित रूप से अपडेट करते रहें। जमीन के नामांतरण, विभाजन, विक्रय, उपहार, वसीयत आदि के मामलों में जमीन के दस्तावेजों को तुरंत बदलवाएं और रजिस्ट्रेशन करवाएं।

जमीन के दस्तावेजों की एक डिजिटल कॉपी बनाकर अपने ई-मेल या क्लाउड स्टोरेज में सेव करें। इससे आपको जमीन के दस्तावेजों की जरूरत पड़ने पर आसानी से पहुंच मिलेगी।

जमीन के दस्तावेजों की एक हार्ड कॉपी बैंक लॉकर में रखें। इससे आपको जमीन के दस्तावेजों की सुरक्षा का भरोसा मिलेगा।

Tags:
Next Story
Share it