Rajasthan News: इस सब्जी की खेती से किसान हुआ मालामाल! कुछ ही महीने में हुए लखपति

Rajasthan News: इस सब्जी की खेती से किसान हुआ मालामाल! कुछ ही महीने में हुए लखपति
X

उदयपुरवाटी के पहाड़ी क्षेत्र के गांवों में, घरों में सब्जी के उपयोग के लिए उगाई जाने वाली फूलगोभी की फसल अब मुख्य फसल के रूप में उगाई जा रही है। उदयपुरवाटी उपखण्ड के गांवों में फूल गोभी की खेती से किसान मोटा मुनाफा कमा रहे हैं।

खेती-बाड़ी से जुड़े एडवोकेट मोतीलाल सैनी ने इसके बारे में जानकारी दी है, बताते हुए कि यहां के किसान पहले जौ, गेंहू, और बाजरे की खेती करते थे, लेकिन अब वे फूल गोभी की खेती से अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। यह क्षेत्र उपखण्ड के जहाज, राजीवपुरा, मणकसास, खेतड़ी, नवलगढ़, और अन्य गांवों में भी फूल गोभी की खेती की जा रही है।

यह है आमदनी का रैसा

फूल गोभी की खेती करने वाले किसान जैसे भागीरथ मल सैनी, शंकरलाल सैनी, श्रीराम सैनी, श्यामलाल सैनी, छोटूराम सैनी, श्रीचन्द सैनी, सोना देवी, सविता देवी, और सुमन देवी बताते हैं कि फूल गोभी के बीज लगाने के लिए एक क्यारी बीज की कीमत दो हजार से तीन हजार रुपये होती है। एक क्यारी बीज से एक बीघा में पौध लगाया जा सकता है।

यह फसल लगभग 60 दिनों में तैयार हो जाती है। इसके लिए एक बीघा में आठ हजार रुपये से तीस हजार रुपये तक का खर्च आता है। इससे किसान बीस से तीस क्विंटल गोभी उत्पादित कर सकता है। जब गोभी की मंडी में फसल आती है, तो प्रति किलो उत्पाद की कीमत पहले 40 से 50 रुपये के बीच होती है और बाद में 10 से 30 रुपये प्रति किलो तक हो जाती है।

जिले में फूल गोभी का रकबा प्रति वर्ष बढ़ रहा है। जहां पहले गांवों मे दो - चार क्यारी सब्जी बोई जाती थी । अब बीघा के हिसाब से बुआई होती है। कृषि की नई तकनीक आने पर किसानों का रूझान अब फसलों की बजाए फल व सब्जियों की और बढ़ा है। इनमें लागत कम मुनाफा अधिक होता है।

Tags:
Next Story
Share it