रिटायर्ड DAO प्रवीण किसानों के लिए बने प्रेरणा, 2 एकड़ में शिमला मिर्च और टमाटर की खेती कर कमा रहे लाखों रूपये, दूसरे किसानों को भी कर रहे प्रोत्साहित

दो एकड़ जमीन लीज पर लेकर पॉली हाउस और नेट शेड में शिमला मिर्च और टमाटर की खेती करके सालाना साढ़े चार लाख रुपए तक कमाई कर रहे हैं।

रिटायर्ड DAO प्रवीण किसानों के लिए बने प्रेरणा, 2 एकड़ में शिमला मिर्च और टमाटर की खेती कर कमा रहे लाखों रूपये, दूसरे किसानों को भी कर रहे प्रोत्साहित
X

रिटायर्ड DAO प्रवीण किसानों के लिए बने प्रेरणा, 2 एकड़ में शिमला मिर्च और टमाटर की खेती कर कमा रहे लाखों रूपये, दूसरे किसानों को भी कर रहे प्रोत्साहित

पूर्व डीएओ प्रवीण कुमार झा ने अपनी सेवाओं के बाद रिटायर होने के बाद सुपौल जिले के महेशवा पंचायत में सब्जी की खेती की शुरुआत की है। उन्होंने दो एकड़ जमीन लीज पर लेकर पॉली हाउस और नेट शेड में शिमला मिर्च और टमाटर की खेती करके सालाना साढ़े चार लाख रुपए तक कमाई कर रहे हैं।

खेती में सही तरीका और कड़ी मेहनत

झा ने रिटायर होने के बाद अपनी कृषि ज्ञान का सही इस्तेमाल करते हुए एक मुनाफे भरी खेती तक पहुंचने में सफलता प्राप्त की है। उनकी खेती में सफलता का राज उनके अनुभव और नवीनतम तकनीक के संबंध में है।

खेतीपूर्व डीएओ की सलाह

झा ने अपने कार्यकाल के दौरान सुपौल जिले में दो किसानों को शेड नेट के फायदे बताए और उन्हें बेहतर खेती की तकनीक सिखाई। रिटायर होने के बाद, उन्होंने खुद दो एकड़ लीज पर जमीन लेकर उन्नत खेती करने का निर्णय लिया।

जैविक खेती का प्रचार-प्रसार

झा ने बताया कि उन्होंने खेत में रासायनिक खाद के बजाय वर्मी कंपोस्ट और गोमूत्र से बनाया गया जीवामृत का इस्तेमाल किया है। इससे न केवल उनकी खेती में लागत कम हुई, बल्कि उनकी पैदावार भी बेहतर हुई। आत्मनिर्भरता की दिशा में किसानों को नए और उन्नत तकनीकी तरीकों से जोड़कर, वे अपने रोजगार के साथ साथ किसानों को खेती से जुड़े उन्नत तरीके भी बताते हैं उनकी कड़ी मेहनत और नए सोच के माध्यम से उन्होंने साबित किया है कि खेती एक लाभकारी और सतत आजीविका बन सकती है।

Tags:
Next Story
Share it