Sarkari Yojana: मधुमक्खी पालन करने पर सरकार दे रही बंपर सब्सिडी! जानिए कैसे करें आवेदन

Sarkari Yojana: मधुमक्खी पालन करने पर सरकार दे रही बंपर सब्सिडी! जानिए कैसे करें आवेदन
X

Sarkari Yojana: बिहार सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के लक्ष्य से एक नई योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, किसान अब कम लागत में मधुमक्खी पालन करके अच्छी कमाई कर सकेंगे। बिहार सरकार कृषि विभाग उद्यान निदेशालय ने मधुमक्खी पालन और शहद उत्पादन प्रोग्राम के अंतर्गत 2200 मधुमक्खी बॉक्स लगाने की मंजूरी दी है। इस से मधुमक्खी पालनकर्ता कम लागत में अच्छी कमाई कर सकेंगे।

इस योजना में, मधुमक्खी पालकों को 75 से 90 फीसदी तक की वित्तीय सहायता दी जाएगी। अनुदान के लिए बॉक्सों की अधिकतम संख्या को 50 तक सीमित किया गया है। मधुमक्खी पालकों को इस योजना के लाभ के लिए कृषि विभाग उद्यान निदेशालय के पोर्टल पर आवेदन करने की सुविधा जल्द ही उपलब्ध होगी। इसके बाद, आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, और योजना का लाभ पहले आए पहले पाए जाने के आधार पर दिया जाएगा।

बॉक्स के साथ छत्ता भी दिए जाएंगे

सामान्य जाति को बॉक्स लगाने के लिए 1,000 रुपये और एससी-एसटी को 400 रुपये प्रति बॉक्स देने का निर्णय लिया गया है। सरकारी लागत प्रति बॉक्स 4,000 रुपये है। इसमें सामान्य जाति के लिए 75% सब्सिडी और एससी-एसटी के लिए 90 फीसदी तक की वित्तीय सहायता दी जाएगी।

मधुमक्खी पालकों को बॉक्स के साथ मधुमक्खी छत्ता भी प्रदान किया जाएगा। छत्ते में रानी, ड्रोन, और वर्कर्स के साथ 8 फ्रेम होंगे। सभी फ्रेम्स की भीतरी दीवारें मधुमक्खियों और बुड्स से पूरी तरह से ढकी होंगी। इस योजना में जमीन की आवश्यकता को खत्म कर दिया गया है।

मधुमक्खी पालन की जानकारी अनिवार्य

मधुमक्खी पालकों को मधुमक्खी पालन की जानकारी अनिवार्य रूप से होनी चाहिए. पालकों को किसी भी सरकारी संस्थानों के जरिए तीन दिनों की ट्रेनिंग अनिवार्य होना चाहिए. ताकि लोगों को सहूलियत हो सके.

एक बॉक्स में 40 किलो मधु का उत्पादन

सही तरीके से मधुमक्खी पालन करें तो एक बॉक्स में सालाना 40 किलो शहद का उत्पादन होता है. खुले बाजार में शहक की कीमत 400 से 500 रुपये किलो है. मधुमक्खी पालक प्रति बॉक्स 400 से 1000 रुपये लगाकर सालाना 16 से 20,000 रुपये कमाई कर सकते हैं.

Tags:
Next Story
Share it