Sindoor Farming: किसान भाई ध्यान दे! इस चीज की शुरू करे खेती, हो जाएंगे मालामाल

Sindoor Farming: किसान भाई ध्यान दे! इस चीज की शुरू करे खेती, हो जाएंगे मालामाल
X

सिंदूर को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। बाजार में केमिकल-संयुक्त सिंदूर भी उपलब्ध होता है, जिसका इस्तेमाल त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं को उत्पन्न कर सकता है। इसमें चर्मरोग और सिरदर्द जैसी गंभीर बीमारियाँ हो सकती हैं। कई लोग प्राकृतिक सिंदूर का उपयोग करते हैं, जिससे इन समस्याओं से बचा जा सकता है। यह जानकारी नहीं होती कि प्राकृतिक सिंदूर एक पेड़ से प्राप्त होता है। कुछ किसान सिंदूर की खेती करके अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के अशोक तपस्वी सिंदूर की खेती करके हर साल अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। लगभग 12 साल पहले, जब वे महाराष्ट्र से लौट रहे थे, तब उन्हें जंगल में सिंदूर का पौधा दिखा था। उन्होंने उस पौधे से पांच से छः अन्य पौधे तैयार किए। शुरू में उन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं थी, लेकिन जब वह पौधों में फूल देखे, तो बाद में रिसर्च करके पता चला कि ये सिंदूर का पौधा है। उसके बाद, उन्होंने इसकी खेती शुरू की।

प्राकृतिक सिंदूर की ज्यादा मांग

बाजार में मिलने वाले मिलावटी केमिकल-संयुक्त सिंदूर की बजाय प्राकृतिक सिंदूर की अधिक मांग है। इसके कारण सिंदूर की खेती करने वाले किसान अच्छा मुनाफा भी कमा रहे हैं। इससे कई तरह के उत्पाद भी तैयार हो रहे हैं। यह भी पता चला है कि प्राकृतिक सिंदूर का उपयोग करने से महिलाओं का मन शांत और ठंडा रहता है।

अशोक तपस्वी का कहना है कि पहले सिंदूर की खेती नहीं होती थी। लेकिन अब उनसे और दूसरे किसान भी प्रेरित हुए हैं। आजकल किसान अनाज के उत्पादन के साथ-साथ औषधीय पौधों की खेती से भी अच्छी कमाई कर सकते हैं। तुलसी, एलोवेरा, गुड़ूची, जैसे कई प्रकार के पौधों की मांग तेजी से बढ़ रही है। इनकी खेती कम जगह में भी आसानी से शुरू की जा सकती है। यदि बड़े स्तर पर नहीं तो घरेलू उपयोग के लिए भी इन पौधों को घर पर लगाया जा सकता है।

Tags:
Next Story
Share it