45 लाख रुपए की सब्सिडी के साथ शुरू करें मछली पालन का बिजनेस, ऐसे उठायें लाभ

प्रधानमंत्री मत्स्य किसान समृद्धि सह योजना (पीएम-एमकेएसएसवाई) प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (पीएम-एमएसवाई) का एक घटक है।

45 लाख रुपए की सब्सिडी के साथ शुरू करें मछली पालन का बिजनेस, ऐसे उठायें लाभ
X

प्रधानमंत्री मत्स्य किसान समृद्धि सह योजना (पीएम-एमकेएसएसवाई) प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (पीएम-एमएसवाई) का एक घटक है। इस योजना का उद्देश्य मत्स्य पालन क्षेत्र को औपचारिक बनाना, मत्स्य पालन से जुड़े सूक्ष्म और लघु उद्यमों को समर्थन देना और मछली पालक किसानों की आय और रोजगार को बढ़ाना है। इस योजना को 2023-24 से 2026-27 तक अगले चार वर्षों के लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू किया जाएगा। इस योजना पर सरकार 6,000 करोड़ रुपए खर्च करेगी।

प्रदर्शन अनुदान: इसके तहत सूक्ष्म उद्यमों को कुल निवेश का 25 प्रतिशत या 35 लाख रुपए, अनुदान दिया जाएगा। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति और महिलाओं के स्वामित्व वाले सूक्ष्म उद्यमों को कुल निवेश का 35 प्रतिशत या 45 लाख रुपए, अनुदान दिया जाएगा। ग्राम स्तरीय संगठनों और एसएचजी, एफएफपीओ और सहकारी समितियों के संघों को कुल निवेश का 35 प्रतिशत या 200 लाख रुपए, अनुदान दिया जाएगा।

नौकरी उत्पादन और संरक्षण: इसके तहत महिलाओं के लिए सृजित और अनुरक्षित प्रत्येक नौकरी के लिए हर साल 15,000 रुपए और पुरुषों के लिए प्रत्येक नौकरी के लिए हर साल 10,000 रुपए की राशि का भुगतान किया जाएगा।

बीमा: इसके तहत मछली पालक किसानों को बीमा का लाभ मिलेगा। इसके लिए सरकार की ओर से प्रति वर्ष 5,000 रुपए की राशि का भुगतान किया जाएगा।

प्रशिक्षण और प्रचार: इसके तहत मछली पालन के लिए प्रशिक्षण, प्रचार, जागरूकता और तकनीकी सहायता प्रदान की जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से प्रति वर्ष 2,000 रुपए की राशि का भुगतान किया जाएगा।

Next Story
Share it