Subsidy on Beekeeping: मधुमक्खी पालन करने पर मिल रही है 90% तक सब्सिडी, जानिए कैसे करे अप्लाई

Subsidy on Beekeeping: मधुमक्खी पालन करने पर मिल रही है 90% तक सब्सिडी, जानिए कैसे करे अप्लाई
X

Subsidy on Beekeeping: मधुमक्खी पालन व्यवसाय को लाभप्रद माना जाता है, और केंद्र और राज्य सरकारें इसे बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रेरित कर रही हैं। बिहार सरकार भी इस मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए बंपर सब्सिडी प्रदान कर रही है। इस स्कीम के लाभ को पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन 15 दिसंबर 2023 से शुरू हो गए हैं।

कितनी मिलेगी सब्सिडी

बिहार सरकार ने मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए इच्छुक किसानों को भारी सब्सिडी प्रदान करने का निर्णय लिया है। शहद उत्पादन के लिए मधुमक्खी कॉलोनी, मधु निष्कासन यंत्र, और प्रसंस्करण सामग्री को सामान्य किसानों को 75% तक की सब्सिडी और एससी-एसटी वर्ग के किसानों को 90% तक की सब्सिडी प्रदान की जा रही है।

उद्यान निदेशालय, कृषि विभाग के अनुसार, मधुमक्खी कॉलोनी की यूनिट की कीमत 3,800 रुपये है, जबकि मधु निष्कासन यंत्र और खाद्य संयंत्र की यूनिट कीमत 19,000 रुपये है। इस पर सामान्य किसानों को 75% और एससी/एसटी किसानों को 90% की सब्सिडी उपलब्ध होगी।

15 दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू

मधुमक्खी पालन एवं मधु उत्पादन कार्यक्रम (2023-24) का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन 15 दिसंबर से शुरू हो गई है. योजना का फायदा उठाने के लिए विभाग की वेबसाइट https://horticulture.bihar.gov.in पर उपलब्ध 'मधुमक्खी पालन एवं मधु उत्पादन कार्यक्रम' के 'आवेदन करें' लिंक पर जाएं और जरूरी डीटेल्स भरकर आवेदन कर सकते हैं. विशेष जानकारी के लिए संबंधित जिला के सहायक निदेशक उद्यान से संपर्क किया जा सकता है.

शहद उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार किसानों को 75,000 मधुमक्खी के बक्से और छत्ते देगी. वर्ष 2023-24 केलिए डीबीटी पोर्टल पर रजिस्टर्ड किसान ही इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. बक्से के साथ ही मधुमक्खी पालक छ्त्ता भी दिया जाएगा.

छत्ते में रानी, ड्रोन और वर्कर्स के साथ 8 फ्रेम होंगे. सभी फ्रेमों की भीतरी दीवार मधुमक्खियों और ब्रुड्स से पूरी तरह से ढंकी होगी. इसके अलावा, शहद निकलाने के लिए मधु निष्कासन यंत्र पर भी अनुदान दिए जाएंगे.

Tags:
Next Story
Share it