Sugar Mills Ethanol: चीनी मिलों के लिए बड़ी खबर! गन्ने के रस, शीरे से एथनॉल बनाने की दी मंजूरी, सरकार ने रखी ये शर्त

Sugar Mills Ethanol: चीनी मिलों के लिए बड़ी खबर! गन्ने के रस, शीरे से एथनॉल बनाने की दी मंजूरी, सरकार ने रखी ये शर्त
X

सरकार ने 2023-24 आपूर्ति वर्ष में चीनी मिलों को एथनॉल बनाने के लिए गन्ने के रस और बी-हैवी शीरा का इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है, लेकिन इसकी अधिकतम सीमा को 17 लाख टन तक मर्यादित किया गया है। सरकार ने इस निर्णय को बहस के बाद, एक सप्ताह के अंदर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। उद्योग जगत ने इस निर्णय को पुनः विचारने की मांग की थी।

प्रतिबंध को वापस लेने की मांग पर किया गया गौर, चीनी मिलों को दिया ऑप्शन

केंद्रीय खाद्य सचिव संजीव चोपड़ा ने पीटीआई-भाषा में कहा है कि "आपूर्ति वर्ष 2023-24 (नवंबर-अक्टूबर) में एथनॉल उत्पादन के लिए 17 लाख टन चीनी की कुल सीमा के भीतर गन्ने के रस और बी-हैवी शीरे दोनों का इस्तेमाल करने का विकल्प चीनी मिलों को दिया गया है।"

उन्होंने बताया कि मंत्रियों की एक समिति ने इस निर्णय को शुक्रवार को अपनी बैठक में लिया। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह फैसला उद्योग जगत की मांगों पर गौर करने के बाद, पिछले सप्ताह लगाए गए प्रतिबंध को वापस लेने की समिति द्वारा लिया गया है।

सरकार ने लगाया था प्रतिबंध, पहले ही बनाया जा चुका है एथनॉल

सात दिसंबर को सरकार ने एथनॉल उत्पादन में गन्ने के रस और चीनी सिरप का इस्तेमाल तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी थी, लेकिन तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) से मिले मौजूदा प्रस्तावों के लिए एथनॉल की आपूर्ति की अनुमति दी गई थी। चोपड़ा ने बताया, "हम एथनॉल बनाने में गन्ने के रस और बी-हैवी शीरे के अनुपात पर निर्णय लेने के तौर-तरीकों पर काम कर रहे हैं।" उन्होंने इस बारे में बताया कि चालू आपूर्ति वर्ष में गन्ने के रस से पहले ही कुछ एथनॉल बनाया गया है।

देश में घटा था चीनी उत्पादन, गन्ने की उपज हुई थी कम

खाद्य मंत्रालय के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पिछला आदेश जारी करने से पहले गन्ने के रस से लगभग छह लाख टन एथनॉल बनाया जा चुका था. सरकार का अनुमान है कि चीनी सत्र 2023-24 में देश का चीनी उत्पादन घटकर 3.2-3.3 करोड़ टन रह जाएगा, जबकि पिछले पेराई सत्र में यह 3.7 करोड़ टन से अधिक रहा था. चीनी उत्पादन में गिरावट के अनुमान के पीछे गन्ने की उपज कम होने की आशंका है. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने पिछले हफ्ते गन्ने के रस और शीरे का इस्तेमाल एथनॉल उत्पादन में करने से रोक दिया था.

Tags:
Next Story
Share it