सरसों दाने की क्वालिटी निखारने के लिए सिंचाई के समय डालें ये स्पेशल खाद, तेल की मात्रा तो बढ़ेगी ही, साथ ही उत्पादन होगा पिछले साल से भी दोगुना

फसल को मजबूती प्रदान करने के लिए NPK-0-52-34 और बोरोन का स्प्रे करें। 10-15 दिनों बाद, NPK-0-0-50 का स्प्रे करें ताकि दाने में चमक आए।

सरसों दाने की क्वालिटी निखारने के लिए सिंचाई के समय डालें ये स्पेशल खाद, तेल की मात्रा तो बढ़ेगी ही, साथ ही उत्पादन होगा पिछले साल से भी दोगुना
X

सरसों दाने की क्वालिटी निखारने के लिए सिंचाई के समय डालें ये स्पेशल खाद, तेल की मात्रा तो बढ़ेगी ही, साथ ही उत्पादन होगा पिछले साल से भी दोगुना

किसान भाइयो, सरसों की फसल को सही खाद देना विशेष महत्वपूर्ण है, खासकर दूसरी सिंचाई के समय। इस लेख में हम आपको सरसों में दूसरी सिंचाई पर सही खाद की जानकारी देंगे।

सरसों की फसल में दूसरी सिंचाई कब करें

सरसों की फसल में दूसरी सिंचाई का सही समय 60 से 70 दिन होता है। यहां ध्यान दें कि अगर आपकी जमीन रेताली है, तो सिंचाई को 10 दिन पहले करना भी फायदेमंद हो सकता है।

सरसों में दूसरी सिंचाई पर खाद

पहली सिंचाई में यूरिया के साथ सल्फर का प्रयोग करने के बाद, दूसरी सिंचाई में यूरिया की मात्रा को बढ़ा सकते हैं। यहां 35 से 40 किलोग्राम यूरिया प्रति एकड़ की सिफारिश की जा रही है।

सरसों में दूसरी सिंचाई के बाद स्प्रे

दूसरी सिंचाई के बाद, फसल को मजबूती प्रदान करने के लिए NPK-0-52-34 और बोरोन का स्प्रे करें। 10-15 दिनों बाद, NPK-0-0-50 का स्प्रे करें ताकि दाने में चमक आए।

खाद मात्रा (किलोग्राम/एकड़)

यूरिया 35-40

NPK-0-52-34 1

बोरोन 100 ग्राम

NPK-0-0-50 १

पोटाश सुपरस्फेट

सरसों को और भी मजबूत बनाने के लिए, 1 किलोग्राम NPK-0-52-34 और 100 ग्राम बोरोन को मिलाकर स्प्रे करें।10-15 दिन बाद, NPK-0-0-50 को 1 किलोग्राम प्रति एकड़ की मात्रा में स्प्रे करें। यह दानों में चमक लाता है और उच्च प्रदावार को बढ़ावा देता है।

इस तकनीक से आप सरसों की पैदावार में वृद्धि कर सकते हैं और बेहतर उत्पादकता प्राप्त कर सकते हैं। ध्यान दें कि सिंचाई की न्यूनतम मात्रा में और सही समय पर करना हमेशा जरूरी है।

Tags:
Next Story
Share it