सरसों में अधिक झाड़ के लिए करें सस्ता और सरल उपाय, मात्र ₹200 में पूरा पौधा भर जाएगा फूल और फलियों से

आवश्यकता पर आधारित सिंचाई से नमी को बनाएं, लेकिन अधिक सिंचाई से बचें, ताकि फसल पर पानी का अतिरिक्त प्रभाव न हो।

सरसों में अधिक झाड़ के लिए करें सस्ता और सरल उपाय, मात्र ₹200 में पूरा पौधा भर जाएगा फूल और फलियों से
X

सरसों में अधिक झाड़ के लिए करें सस्ता और सरल उपाय, मात्र ₹200 में पूरा पौधा भर जाएगा फूल और फलियों से


जो किसान सरसों की खेती कर रहे हैं उनके लिए आवश्यक और जरूरी सुझाव है जो कम पैसों मे किसान भाइयों को अधिक उत्पादन करने में सहायता प्रदान करता है, सरसों में अधिक झाड़ प्राप्त करने के लिए आप समय पर सिंचाई करते हैं और कीटनाशकों का उपयोग भी करते हैं लेकिन कई बार पौधे बड़े होने के कारण उनमें प्राप्त मात्रा में सूर्य का प्रकाश और अन्य खाद व उर्वरक नहीं पहुंच पाती इसलिए यह बात ध्यान देने योग्य है कि जब आपकी फसल अच्छी तरह से खड़ी हो, और पत्ते खूब घने हो, तो इस स्थिति में सूर्य का प्रकाश मिट्टी तक नहीं पहुंच पाता है जिससे अधिक समय तक मिट्टी में नमी बनी रहती है यदि आप उस समय सरसों की फसल में सिंचाई कर देते हैं तो जो भी अच्छा उत्पादन मिलने वाला था वह नहीं मिल पाएगा।तकनीकों का अनुसंधान करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस लेख में, हम सरसों की फसल में फूल फलियों को मोटा बनाने के लिए कुछ कदमों पर ध्यान केंद्रित करेंगे, जिससे किसान भाइयों को बेहतर उत्पादन हासिल करने में मदद मिलेगी।

# सरसों में फूल फलियां बनाएं






हमें फूल फलियां बनाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण चरणों का पालन करना होगा:

मिट्टी की नमी बनाएं

फसल को सूर्य के प्रकाश में खड़ा होने पर ध्यान दें ताकि मिट्टी में नमी बनी रहे।

आवश्यकता पर आधारित सिंचाई से नमी को बनाएं, लेकिन अधिक सिंचाई से बचें, ताकि फसल पर पानी का अतिरिक्त प्रभाव न हो।

दूसरी सिंचाई

NPK 13:0:45 या NPK 0:52:34 का स्प्रे करें दूसरी सिंचाई के बाद।

बोरोन का स्प्रे भी करें, जो परिवर्तित फूलियों में सुधार करने में मदद करेगा।

मिट्टी की जाँच

दूसरी सिंचाई से पहले मिट्टी की नमी को चेक करें और उसी के हिसाब से सिंचाई का निर्णय लें।


फंगसाइड का उपयोग

मौसम के अनुसार, फसल में फंगस लगने की संभावना को ध्यान में रखते हुए फंगसाइड का छिड़काव करें।

पोटाश और नाइट्रोजन समीकरण

फूलियों में तेज परिवर्तन के लिए, NPK 13:0:45 का उपयोग करें।

पौधों में पोटाश और नाइट्रोजन की कमी होने पर इसे पूर्ति के लिए उपयोग करें।

# मात्रा और सावधानियां

बोरोन का 20% वाला स्प्रे 1 लीटर पानी में एक ग्राम के हिसाब से करें।

फंगसाइड की मात्रा और समय को ध्यानपूर्वक निर्धारित करें।

# उत्पादन बढ़ाएं

उपरोक्त सभी उपायों का पालन करने से, किसान भाइयों को 13 से 15 क्विंटल तक उत्पादन हासिल करने में सफलता मिलेगी।


Tags:
Next Story
Share it