ड्रोन उड़ाकर महिलाएं बनेंगी लखपति! अब महिला SHGs को मिलेंगे 15 हजार Agri Drone

ड्रोन उड़ाकर महिलाएं बनेंगी लखपति! अब महिला SHGs को मिलेंगे 15 हजार Agri Drone
X

Agri Drones: केंद्र सरकार ने खेती में ड्रोन के इस्तेमाल को बढ़ाने और किसानों तक इसकी पहुंच को सुगम बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है। सरकार ने महिला स्वयं सहायता समूहों को ड्रोन प्रदान करने की मंजूरी दी है। खेतों में खाद और कीटनाशक छिड़काव के लिए ड्रोन किराए पर उपलब्ध किए जाएंगे। इस योजना का उद्देश्य है महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप से जुड़ी महिलाओं को लखपति बनाने का। यह योजना की घोषणा 15 अगस्त 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी।

15 हजार दिए जाएंगे ड्रोन

लखपति दीदी योजना के अंतर्गत आने वाले दो वित्त वर्षों, 2024-25 और 2025-26, में महिला स्वयं सहायता समूहों को 14,500 ड्रोन प्रदान किए जाएंगे। चालू वित्त वर्ष 2023-24 तक फर्टिलाइजर कंपनियां महिला स्वयं सहायता समूहों को 500 ड्रोन देंगी। ये ड्रोन खेती के काम में खासकर कीटनाशक और खाद के छिड़काव के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे।

80% सब्सिडी देगी सरकार

एक ऐग्री ड्रोन की लागत 10 लाख रुपये होती है, जिसमें से सरकार 8 लाख रुपये देगी, अर्थात 80% दर की सहायता। बाकी 2 लाख रुपये के लिए सीएलएफ नेशनल एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंसिंग फैसिलिटी से ऋण लिया जाएगा। इस ऋण पर ब्याज दर में सरकार द्वारा 3% की छूट दी जाएगी।

महिला को दी जाएगी ड्रोन उड़ाने की ट्रेनिंग

महिला एसएचजी से जुड़ी 10वीं पास 18 वर्ष से अधिक आयु वाली महिला को ड्रोन (Drone) उड़ाने के लिए 15 दिनो की ट्रेनिंग दी जाएगी. पायलट महिला को 15,000 रुपये मासिक का मानद भी दिया जाएगा. उसकी सहायता के लिए एक को-पायलट भी होगी, जिसे प्रति माह 10,000 रुपये दिए जाएंगे. ड्रोन की मरम्मत के काम के लिए भी कुछ महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी, जिन्हें प्रति माह 5,000 रुपये दिए जाएंगे. ड्रोन (Drone) सप्लाई करने वाली कंपनी ड्रोन उड़ाने से लेकर इसकी मरम्मत तक की ट्रेनिंग देगी.

Tags:
Next Story
Share it