यूपी में बनेगा जापानी कंपनियों के लिए नया शहर, मिलेंगी ये बड़ी सुविधा

उत्तर प्रदेश (UP) में विदेशी कंपनियों की दिलचस्पी बढ़ती जा रही है।

यूपी में बनेगा जापानी कंपनियों के लिए नया शहर, मिलेंगी ये बड़ी सुविधा
X

उत्तर प्रदेश (UP) में विदेशी कंपनियों की दिलचस्पी बढ़ती जा रही है। तेज गति से विकास कर रहे इस राज्य की अर्थव्यवस्था ने दुनिया भर के निवेशकों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। इसी कड़ी में जापान की कई बड़ी कंपनियां भी यूपी में अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश करने की योजना बना रही हैं।

यूपी सरकार ने जापानी कंपनियों के लिए एक अलग सिटी बनाने की तैयारी की है। इस सिटी में जापानी कंपनियों को नोएडा या उसके आस-पास का बड़ा लैंड पार्सल मिलेगा, जहां वे अपनी छोटी-बड़ी परियोजनाएं लगा सकेंगे। इसके लिए यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) में 500 एकड़ की जमीन चिन्हित की गई है।

इस सिटी में जापानी कंपनियों को इलेक्ट्रानिक्स, सेमी कंडक्टर, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ग्रीन हाइड्रोजन एनर्जी, सोलर एनर्जी, ऑटोमोबाइल सेक्टर जैसे उच्च प्रौद्योगिकी के क्षेत्रों में निवेश करने का मौका मिलेगा। इस सिटी में जापानी कंपनियों को उच्चस्तरीय सड़कें, बिजली, सुरक्षा के साथ-साथ नागरिक सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। जापानी कंपनियों में काम करने वाले लोगों को उन्हीं का परिवेश उपलब्ध करवाते हुए उनको घर, स्कूल और हॉस्पिटल जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।

जापानी कंपनियां यूपी सरकार की एफडीआई नीति के तहत यहां निवेश करेंगी। इस नीति के तहत निवेश पर कंपनियों को कई तरह की रियायतें दी जा रही हैं। इसमें खासतौर पर जमीन की कीमत में 80 प्रतिशत तक की छूट का प्राविधान है। राज्य सरकार को एफडीआई पॉलिसी के तहत पहला निवेश भी जापान की कंपनी फूजी सिल्वरटेक कंक्रीट का मिला है। माना जा रहा है कि 500 एकड़ में बनने वाली इस सिटी में जापान की अलग-अलग क्षेत्रों की कंपनियां 15000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेंगी।

Next Story
Share it