डिफाल्टरों से एक माह में 27 करोड़ वसूलकर भी लक्ष्य से पिछड़ा बिजली निगम, अब सख्ती से निपटने की तैयारी

डेढ़ लाख डिफाल्टरों के बकाया थे 116 करोड़, जिनमें 14 करोड़ 34 लाख 1128 दफ्तरों के पेंडिंग

डिफाल्टरों से एक माह में 27 करोड़ वसूलकर भी लक्ष्य से पिछड़ा बिजली निगम, अब सख्ती से निपटने की तैयारी
X

सिरसा हरियाणा बिजली वितरण निगम का बकाया बिल वसूली पर जोर है। एक माह में 15 एसडीओ की टीमें साढ़े 9 हजार डिफाल्टरों तक पहुंची। जिनसे बकाया बिल के 27 करोड़ रुपये वसूले हैं। बावजूद इसके जिले में 91 करोड़ रुपये बिल बकाया है। इतना ही नहीं निगम ने 35 करोड़ रुपये वसूली का लक्ष्य रखा था। अब अप्रैल में बिजली विभाग बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर वसूली करेगा। इसकी जिम्मेदारी एसडीओ व जेई को सौंपी है।

बिजली निगम में एसई राजेंद्र सबरवाल ने बताया कि निगम की टीमें बकाया बिल भुगतान बारे जागरूक करने में जुटी हैं। समय पर बिल जमा न कराने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा।

गर्मी में पेयजल संकट के डर से जलघरों का 8 करोड़ रुपये बकाया बिल जमा करवाया

जिले में 2.73 लाख बिजली उपभोक्ता है। इसमें से लगभग दो लाख ऐसे उपभोक्ता हैं, जो नियमित बिजली बिल जमा करते हैं, जबकि डेढ़ लाख उपभोक्ताओं के 116 करोड़ बकाया थे, जिनमें 1128 सरकारी महकमें शामिल हैं, जिनके 14 करोड़ 34 लाख पेंडिंग होना बताया गया था।

मार्च में बिजली निगम ने बकाया वसूली का लक्ष्य रखा था, लेकिन वसूली की रफ्तार धीमी रह गई और आंकड़ा 27 करोड़ के आसपास सिमट गया। जिसमें 8 करोड़ जनस्वास्थ्य विभाग के बकाया आए हैं। जोकि गर्मी सीजन में जलघरों के कनेक्शन काटने शुरू किए थे। जिससे रिकवरी में इजाफा होने लगा है।

निगम ने डिफाल्टरों को मीटर उखाड़ने बारे चेताया

निगम से बकाया बिलों के भुगतान न करने वाले उपभोक्ताओं को मीटर उखाड़ने बारे चेताया है। 1 लाख 51 हजार 107 डिफाल्टरों को सूचीबद्ध किया गया। निगम ने संबंधितों को नोटिस जारी किए। जिसके बाद काफी उपभोक्ता कार्यालय में पहुंच बकाया भुगतान चुका गए। जबकि सवा लाख उपभोक्ता कुंडली मारे हुए हैं। जिनके साथ विभाग अब सख्ती से निपटेगा।

Next Story
Share it