यूपी के इस जिले में जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया को तेज करने के लिए पहल, ये मिलेंगे फायदे

नोएडा में जमीन अधिग्रहण को तेज करने के लिए नोएडा अथॉरिटी और जिला प्रशासन ने संयुक्त बैठक की।

यूपी के इस जिले में जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया को तेज करने के लिए पहल, ये मिलेंगे फायदे
X

नोएडा में जमीन अधिग्रहण को तेज करने के लिए नोएडा अथॉरिटी और जिला प्रशासन ने संयुक्त बैठक की। इस बैठक में नोएडा-ग्रेनो अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेश्वरी और जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के साथ दोनों विभागों के प्रमुख अधिकारी शामिल थे। इस बैठक का मुख्य उद्देश्य था कि लैंड बैंक को बढ़ाने और विकास कार्यों को गति देने के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया को सुगम और शीघ्र बनाया जाए।

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सरकारी जमीन पर हो रहे अतिक्रमण को हटाने के लिए प्राधिकरण और जिला प्रशासन मिलकर कार्यवाही करेंगे। इसके लिए तहसील के लेखपाल और नायब तहसीलदार की ओर से भी सहयोग दिया जाएगा। जिन मामलों में नोएडा और जिला प्रशासन की संयुक्त दल द्वारा जमीन का मापन करना है, उन मामलों में जल्दी तारीख निर्धारित करके मापन की क्रिया को शुरू किया जाएगा।

बैठक में यह भी चर्चा की गई कि प्राधिकरण द्वारा समझौते के जरिए जमीन खरीदने से पहले तहसीलों से जमीन के स्वामित्व का प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज चाहिए होते हैं। इन मामलों में तहसीलों से आवश्यक जानकारी प्राप्त होने में काफी देरी होती है। इसके अतिरिक्त जमीन क्रय किए जाने के बाद नामान्तरण के काफी प्रकरण तहसीलों में लंबित हैं। इसके लिए जिला प्रशासन को एक सूची उपलब्ध कराई गई है, जिसमें इन प्रकरणों का विवरण है। इन प्रकरणों को जल्द से जल्द निपटाने का आदेश दिया गया है।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि तालाबों की जमीन पर हो रहे अतिक्रमण को हटाने के लिए भी दोनों विभागों की टीम साथ काम करेंगी। इसके लिए तालाबों की जमीन का आकार और स्थिति का पता लगाने के लिए जल विभाग की मदद ली जाएगी। इससे तालाबों की जमीन को बचाने और पानी के संरक्षण के लिए एक कदम उठाया जाएगा।

इस प्रकार, नोएडा में जमीन अधिग्रहण को तेज करने के लिए बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। इससे नोएडा के विकास और लैंड बैंक को बढ़ावा मिलेगा।

Tags:
Next Story
Share it