अब गरीबों का होगा अपना घर, सरकार ने शुरू की नई हाउसिंग स्कीम, ऐसे करें आवेदन

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2024 में किराएं के घर में रहने वालों, चॉलों में और झुग्गियों में रहने वालों को अपना घर देने की योजना बनाई है।

अब गरीबों का होगा अपना घर, सरकार ने शुरू की नई हाउसिंग स्कीम, ऐसे करें आवेदन
X

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2024 में किराएं के घर में रहने वालों, चॉलों में और झुग्गियों में रहने वालों को अपना घर देने की योजना बनाई है। इस योजना को पूरा करने के लिए सरकार ने खास प्लान तैयार किया है, जिससे जरूरतमंद लोगों को घर बनाने या खरीदने में मदद मिलेगी। इस बारे में सिग्नेटर ग्लोबल लिमिटेड के संस्थापक और अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल ने भी अपनी राय दी है।

प्रदीप अग्रवाल का कहना है कि वित्त मंत्री ने घर के स्वामित्व के महत्व को सामने रखा है। उन्होंने बताया कि सरकार मिडिल क्लास के लिए हाउसिंग स्कीम लाने वाली है, जिसका उद्देश्य किराएं के घर में रह रहे लोगों को अपना घर दिलाना है। इससे मिड हाउसिंग और अफोर्डेबल हाउसिंग क्षेत्र में तेजी आने की उम्मीद है।

वित्त मंत्री ने ये भी कहा है कि सरकार टेक्नोलॉजी सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए कई पहल करेगी। उन्होंने डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, आत्मनिर्भर भारत और नई शिक्षा नीति जैसी योजनाओं का जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि सरकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन, रोबोटिक्स, बायोटेक्नोलॉजी और इंटरनेट ऑफ थिंग्स जैसी नई तकनीकों को बढ़ावा देगी।

वित्त मंत्री ने ये भी बताया है कि सरकार इनकम टैक्स नियम 1961 के तहत भी कुछ छूट देगी। इसके तहत, पहली बार घर खरीदने वालों को होम लोन पर ब्याज में 50 हजार रुपये तक की कटौती मिलेगी। इससे लोगों को घर खरीदने में आर्थिक राहत मिलेगी।

वित्त मंत्री ने ये भी कहा है कि सरकार पीएम आवास स्कीम के तहत 2024-2025 के लिए 1 करोड़ घरों का निर्माण करने का लक्ष्य रखी है। इस स्कीम के तहत, गरीब और माध्यमवर्ग के लोगों को घर खरीदने के लिए सब्सिडी दी जाएगी। इससे लोगों को अपना घर बनाने का सपना पूरा होगा।

इस तरह, बजट 2024 में वित्त मंत्री ने घर के स्वामित्व और टेक्नोलॉजी सेक्टर को प्राथमिकता दी है। इससे देश की आर्थिक विकास और सामाजिक समृद्धि में योगदान होगा।

Next Story
Share it