यूपी किसानों की बल्ले बल्ले, सीएम योगी ने 3.5 लाख किसानों को फसल मुआवजा देने का दिए आदेश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपदाओं (Natural Disaster) से क्षतिग्रस्त फसलों (Crop Damage) के नुकसान के मुआवजे से छूटे किसानों को लेकर बड़ा फैसला लिया है.

यूपी किसानों की बल्ले बल्ले, सीएम योगी ने 3.5 लाख किसानों को फसल मुआवजा देने का दिए आदेश
X

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपदाओं (Natural Disaster) से क्षतिग्रस्त फसलों (Crop Damage) के नुकसान के मुआवजे से छूटे किसानों को लेकर बड़ा फैसला लिया है. यूपी सरकार ने किन्हीं तकनीकी कारणों से वित्तीय वर्ष 2021-22 और वर्ष 2022-23 में मुआवजे से छूटे प्रदेश के कुल साढ़े तीन लाख से अधिक किसानों को 1 अरब 76 करोड़ से अधिक धनराशि जल्द से जल्द खाते में ट्रांसफर करने के निर्देश दिये हैं. इससे किसानों को राहत मिलेगी और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा.

योगी सरकार ने आपदाओं से क्षतिग्रस्त फसलों के मुआवजे का मुद्दा अपनी प्राथमिकता में रखा है. योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में विभिन्न आपदाओं से क्षतिग्रस्त हुई फसलों के मुआवजे और अन्य राहत को लेकर समीक्षा बैठक की थी. इस दौरान उन्होंने त्रुटियों के कारण फसलों के नुकसान के दोबारा सत्यापन में लापरवाही और मुआवजा जारी नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए 17 जिलों के एडीएम एफआर से जवाब तलब किया था. साथ ही, अधिकारियों को ऐसे मामलों में तत्काल सत्यापन कराकर किसानों को मुआवजा राशि प्रदान करने के स्पष्ट निर्देश दिये थे.

योगी सरकार ने आपदाओं से क्षतिग्रस्त फसलों के मुआवजे के लिए एक आधुनिक और पारदर्शी प्रणाली बनाई है. इस प्रणाली में किसानों की फसलों का सर्वे ड्रोन के माध्यम से किया जाता है और उनके आधार, खाता संख्या और मोबाइल नंबर के आधार पर उन्हें मुआवजा धनराशि डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से भेजी जाती है. इससे किसानों को अपने नुकसान का पूरा मुआवजा मिलता है और बीच में कोई दलाली नहीं होती है.

अपर-मुख्य सचिव राजस्व के अनुसार, एक सर्वे में पता चला है कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में सीतापुर के 27,836 किसानों को मुआवजे से सबसे अधिक छूट मिली थी, और उन्हें 10,72,51,397 रुपये की धनराशि का भुगतान किया जा रहा है। दूसरे स्थान पर बरेली के 22,661 किसान और तीसरे स्थान पर ललितपुर के 19,420 किसानों को मुआवजे का भुगतान किया जा रहा है। इसी रूप में, वित्तीय वर्ष 2022-23 में सिद्धार्थनगर के 21,002 किसानों को सबसे अधिक मुआवजा प्राप्त हुआ, और उन्हें 10,07,53,392 रुपये की धनराशि का भुगतान किया जा रहा है। दूसरे स्थान पर झांसी के 17,296 किसानों और तीसरे स्थान पर बलरामपुर के 12,933 किसानों को मुआवजे का भुगतान किया जा रहा है। यह जानकारी है कि बाढ़, अधिक वर्षा और अनियमित वर्षा से प्रभावित हुए किसानों को 33 प्रतिशत से अधिक क्षति हुई थी। सीएम योगी के निर्देशानुसार, किसानों को मुआवजा धनराशि 24 घंटे के भीतर डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में हस्तांतरित की जाती है।

Next Story
Share it