UPSC Success Story : बिना कोचिंग के पहले प्रयास में IAS बनीं लघिमा तिवारी, जानिए उनकी सफलता का राज

UPSC Success Story : बिना कोचिंग के पहले प्रयास में IAS बनीं लघिमा तिवारी, जानिए उनकी सफलता का राज
X

UPSC Success Story : बिना कोचिंग के पहले प्रयास में IAS बनीं लघिमा तिवारी, जानिए उनकी सफलता का राज

Khet Khajana, New Delhi, UPSC Success Story : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में सफल होने का सपना रखने वाले लाखों उम्मीदवारों में से कुछ ही लोग इसे पूरा कर पाते हैं। इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए लोग लंबे समय तक कोचिंग और टेस्ट सीरीज का सहारा लेते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी होनहार अभ्यर्थी हैं, जिन्होंने अपने पहले ही प्रयास में बिना कोचिंग के यूपीएससी की परीक्षा में शानदार प्रदर्शन किया है।

एक ऐसी ही उदाहरण है लघिमा तिवारी की, जिन्होंने 2022 में आयोजित यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में ऑल इंडिया 19वीं रैंक हासिल की और आईएएस अधिकारी बनीं। लघिमा ने अपनी सफलता का राज बताते हुए कहा है कि उन्होंने यूट्यूब पर टॉपर्स के इंटरव्यू देखकर अपनी तैयारी की और टेस्ट सीरीज और सेल्फ स्टडी का जमकर फायदा उठाया।

लघिमा का परिचय

लघिमा राजस्थान के अलवर जिले की रहने वाली हैं।

उनके पिता एक व्यापारी हैं और माता एक शिक्षिका हैं।

उन्होंने अपनी 10वीं और 12वीं की पढ़ाई अलवर से की है।

उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग की ग्रेजुएशन की है।

उन्होंने यूपीएससी मेंस परीक्षा के लिए मानवविज्ञान को अपना वैकल्पिक विषय चुना है।

लघिमा की तैयारी का तरीका

लघिमा ने अपनी तैयारी के लिए किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट का सहारा नहीं लिया।

उन्होंने यूट्यूब पर टॉपर्स के इंटरव्यू देखकर अपने लिए एक रणनीति बनाई।

उन्होंने स्टेटिक पार्ट, बेसिक जीएस और करंट अफेयर्स को अच्छी तरह से कवर किया।

उन्होंने टेस्ट सीरीज और मॉक टेस्ट का जमकर फायदा उठाया।

उन्होंने अपनी वीकनेस को पहचानकर उसपर काम किया।

उन्होंने अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट को भी ध्यान से पढ़ा और लिखा।

उन्होंने अपने इंटरव्यू के लिए भी अच्छी तरह से तैयारी की।

लघिमा की सफलता के लिए टिप्स

लघिमा ने उम्मीदवारों को दृढ़ संकल्प और निरंतरता का मंत्र दिया है।

उन्होंने कहा है कि चाहे कितने भी घंटे पढ़ें, लेकिन लगातार प्रयास करते रहें।

उन्होंने उम्मीदवारों से पहले से ही अपनी तैयारी की रणनीति बनाने का आग्रह किया है।

उन्होंने उम्मीदवारों को अपनी स्ट्रेंथ और वीकनेस को पहचानने का सुझाव दिया है।

Tags:
Next Story
Share it