MSP क्या है? किसानों के लिए क्यों है महत्वपूर्ण? जिसके लिए किसान फिर से कर रहे दिल्ली कूच

कई राज्यों के किसान, जिनमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब शामिल हैं, 13 फरवरी से शुरू हो रहे 'दिल्ली चलो' आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं।

MSP क्या है? किसानों के लिए क्यों है महत्वपूर्ण? जिसके लिए किसान फिर से कर रहे दिल्ली कूच
X

कई राज्यों के किसान, जिनमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब शामिल हैं, 13 फरवरी से शुरू हो रहे 'दिल्ली चलो' आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं। इस आंदोलन में 150 से अधिक किसान संगठन शामिल हैं। 2020-21 में हुए किसान आंदोलन के दौरान किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी, लेकिन इस बार पहले से ही धारा 144 लागू कर दी गई है और दिल्ली की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है।

आपने शायद अखबारों या टीवी में एमएसपी (MSP) के बारे में सुना होगा। एमएसपी का पूरा नाम न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) है। यह वह दर है जिस पर सरकार किसानों से फसल खरीदती है। एमएसपी का उद्देश्य किसानों को उनकी लागत से अधिक मुनाफा दिलाना है। इससे किसानों की आय में वृद्धि होती है और उन्हें बाजार के अस्थिरता से बचाया जाता है।

एमएसपी की शुरुआत 1966-67 में हुई थी। तब भारत को अनाज उत्पादन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था। सरकार ने तब गेहूं पर एमएसपी लागू किया था। इससे किसानों को प्रोत्साहन मिला और उनका उत्पादन बढ़ा। बाद में अन्य फसलों पर भी एमएसपी शुरू किया गया। वर्तमान में 23 फसलों पर एमएसपी दिया जाता है।

एमएसपी को तय करने का काम केंद्र सरकार करती है। सरकार कृषि मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाले कमीशन फॉर एग्रीकल्चरल कॉस्ट्स एंड प्राइसेस (CACP) की सिफारिश पर निर्भर करती है। CACP फसलों की लागत, उत्पादन, डिमांड, सप्लाई, बाजार दर, आयात-निर्यात, भारतीय और विश्व अर्थव्यवस्था आदि कारकों को ध्यान में रखकर एमएसपी की सिफारिश करता है। सरकार इस सिफारिश को मंजूर करती है या उसमें बदलाव करती है।

एमएसपी से किसानों को उनकी लागत से अधिक मुनाफा मिलता है। इससे उनकी आय में वृद्धि होती है और उनका जीवन स्तर बेहतर होता है।

एमएसपी से किसानों को बाजार के अस्थिरता से बचाया जाता है। बाजार में फसल की कीमत कम या ज्यादा होने पर भी उन्हें एमएसपी की गारंटी मिलती है। इससे उन्हें आर्थिक सुरक्षा मिलती है।

एमएसपी से सरकार को फसलों की आपूर्ति में सुधार होता है। सरकार एमएसपी के जरिये किसानों से फसल खरीदती है और उसे अपनी राशन या पीडीएस योजना के तहत गरीबों में बांटती है। इससे देश की खाद्य सुरक्षा बनी रहती है।

Next Story
Share it