free solar flour mill : महिलाओं को मिलेगी मुफ्त सोलर आटा चक्की, आटा पीसने के लिए नहीं लगेगा डीजल, बिजली का खर्चा

आटा चक्की एक ऐसा व्यवसाय है जो भारत में हर जगह चलता है। लेकिन इस व्यवसाय में बिजली और डीजल का खर्च बहुत ज्यादा होता है।

free solar flour mill : महिलाओं को मिलेगी मुफ्त सोलर आटा चक्की, आटा पीसने के लिए नहीं लगेगा डीजल, बिजली का खर्चा
X

आटा चक्की एक ऐसा व्यवसाय है जो भारत में हर जगह चलता है। लेकिन इस व्यवसाय में बिजली और डीजल का खर्च बहुत ज्यादा होता है। इससे आटा चक्की के मालिक को मुनाफा कम होता है और कभी-कभी घाटा भी होता है। इस समस्या का समाधान है सोलर आटा चक्की।

सोलर आटा चक्की एक ऐसी आटा चक्की है जो सौर ऊर्जा का उपयोग करती है। इसमें सोलर पैनल लगे होते हैं जो सूरज की रोशनी को बिजली में बदलते हैं। इस बिजली से आटा चक्की का मोटर चलता है। इससे आटा चक्की को बिजली और डीजल की जरूरत नहीं पड़ती है।

सोलर आटा चक्की के फायदे:

इससे आपको बिजली और डीजल का खर्चा बचता है। आपको हर महीने बिजली बिल और डीजल का खर्चा नहीं देना पड़ता है।

इससे आपका मुनाफा बढ़ता है। आपको एक बार ही सोलर आटा चक्की लगवाना है और फिर आपको कई सालों तक फ्री बिजली मिलती है।

इससे आपको बिजली कटौती की परेशानी नहीं होती है। आपकी आटा चक्की सूरज निकलने के साथ ही चालू हो जाती है और शाम को बंद हो जाती है।

इससे आप पर्यावरण को भी बचाते हैं। सोलर आटा चक्की कोई प्रदूषण नहीं करती है। यह हरा और स्वच्छ ऊर्जा का उपयोग करती है।

सोलर आटा चक्की लगाने का खर्चा आपकी आटा चक्की के मोटर की क्षमता और सोलर पैनल की वाट की मात्रा पर निर्भर करता है। आम तौर पर, एक 10 HP की आटा चक्की के लिए आपको 15 KW का सोलर पैनल और 15 HP का सोलर ड्राइव या वीएफडी ड्राइव लगवाना होगा। इसका लगभग खर्चा 6 लाख रुपये होगा।

लेकिन आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपको इसके लिए आर्थिक सहायता भी मिल सकती है। भारत सरकार और कुछ राज्य सरकारें सोलर आटा चक्की के लिए सब्सिडी और ऋण भी देती हैं। आप अपने नजदीकी उर्जा विभाग या बैंक से इसके बारे में पूछ सकते हैं।

अगर आप एक महिला हैं और आप अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहती हैं, तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। भारत सरकार ने निशुल्क आटा चक्की मशीन योजना 2023 की शुरुआत की है। इस योजना के तहत, गरीब और असहाय महिलाओं को सोलर आटा चक्की मशीन मुफ्त में दी जाएगी। इससे उन्हें आत्मनिर्भर बनने और अपनी आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए महिलाओं को सबसे पहले अपने राज्य के खाद्य आपूर्ति विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा।

Next Story
Share it