धान की सीधी बिजाई के पंजी- करण के लिए आवेदन आमंत्रित

Subhash Hudda
By Subhash Hudda

फतेहाबाद, 7 जुलाई। कृषि तथा किसान कल्याण विभाग ने डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट एग्रीहरियाणा डॉट जीओवी डॉट आईएन पोर्टल के माध्यम से धान की सीधी बिजाई हेतू पंजीकरण के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं, जिसके लिए 10 जुलाई अंतिम तिथि निर्धारित की है। स्कीम का लाभ पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दिया जाएगा। उपायुक्त राहुल नरवाल ने बताया कि धान की सीधी बिजाई करने से पानी व ऊर्जा की बचत होती है, साथ ही पर्यावरण प्रदूषण में भी कमी आती है।

इसके साथ ही उपायुक्त राहुल नरवाल ने जिला के किसानों से आह्वान किया कि वे भू-जल के गिरते स्तर को ध्यान में रखकर धान की सीधी बिजाई करें। सरकार की ओर से धान की सीधी बिजाई करने वाले किसान को 4 हजार रुपये प्रति एकड़ की दर से अनुदान राशि भी दी जाती है।

इसके अलावा धान की सीधी बिजाई मशीन पर 40 हजार रुपये का अनुदान दिया जाता है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में फतेहाबाद जिला सहित सिरसा, हिसार, रोहतक, जींद, अंबाला, यमुनानगर, करनाल, कुरूक्षेत्र, कैथल, पानीपत व सोनीपत में धान की सीधी बिजाई को बढ़ावा मिला है। योजना के अंतर्गत 3.02 लाख एकड़ प्रदर्शन प्लॉट का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने कहा कि किसान बिजाई से पहले लेजर लेवलर मशीन से खेत समतल अवश्य करें। किसान बासमती धान की तरावड़ी बासमती, सीएसआर-30, पूसा बासमती-1, पूसा बासमती- 1121, पूसा बासमती-1509, हरियाणा बासमती-2 तथा कम व मध्यम अवधि वाली किस्में/हाइब्रिड बुआई करें। बत्तर खेत में धान की सीधी बिजाई करने पर मौसम तथा खेत की नमी अनुसार पहली सिंचाई 7 से 21 दिन के बाद करें।

Share This Article