कृषि समाचार

किसानों को राहत, सरकार ने दिया एक और मौका Meri Fasal Mera Byora, गेहूं बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी

किसानों को राहत, सरकार ने दिया एक और मौका Meri Fasal Mera Byora पोर्टल फिर खुला, गेहूं बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी

हरियाणा में रबी की फसल को मंडी में बेचने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा Meri Fasal Mera Byora पोर्टल पर फसल का पंजीकरण अनिवार्य किया गया है। पोर्टल बंद कर दिया गया।

Meri Fasal Mera Byora

Meri Fasal Mera Byora मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहूं की फसल का रजिस्ट्रेशन कराने से वंचित रहे किसानों के लिए राहत भरी खबर है। पोर्टल को फिर से खोल दिया गया है। जो किसान गेहूं की फसल का रजिस्ट्रेशन नहीं करवा पाए थे, वे अब अपनी फसल का रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। वंचित किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी तरह की परेशानी न आए, इसलिये सरकार द्वारा पोर्टल फिर से खोला गया है।

 

Haryana Cotton Farming: सिरसा में किसानों ने किया अगेती कपास की बिजाई-बुवाई का काम शुरू

रबी की फसल को मंडी में लाकर बेचने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर फसल का पंजीकरण अनिवार्य किया गया है। पंजीकरण के बिना फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बिकने की कोई जिम्मेदारी सरकार की नहीं होगी। रबी की फसल के पंजीकरण को लेकर महीना भर तक पोर्टल खुला रहा। किसानों ने मांग की थी कि पोर्टल को फिर से खोला जाए, ताकि वह भी अपनी फसल का पंजीकरण करवा सकें।

Meri Fasal Mera Byora

Meri Fasal Mera Byora सरकार ने दिया एक और मौका

मार्केट कमेटी सचिव ने बताया कि जो किसान मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसलों का पंजीकरण करवाने से वंचित रह गए थे। उनके लिए सरकार ने एक मौका और उपलब्ध करवाया है। पोर्टल किसानों के लिए खुल गया है। इसलिए जो भी किसान अपना पंजीकरण नहीं करवा पाए थे, वह किसान अब अपनी फसलों का पोर्टल पर पंजीकरण जरूर करवा लें ताकि उन्हें अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की असुविधा न हो।

Meri Fasal Mera Byora

उसको अपने साथ जमीन का रिकार्ड, बैंक पास बुक, आधार कार्ड, परिवार पहचान पत्र आदि दस्तावेज लेकर जाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि अभी तक जिला में 32 हजार 798 किसान मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवा चुके हैं। जिनकी एक लाख 84 हजार 743 एकड़ भूमि मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत हुई है। खंड बाढड़ा में 12 हजार 245 किसानों ने 68 हजार 892 एकड़, बौंद खंड में 3 हजार 864 किसानों ने 22 हजार सौ एकड़ और दादरी खंड में 17 हजार 57 किसानों ने 93 हजार 749 एकड़ भूमि का पंजीकरण करवाया है।

https://fasal.haryana.gov.in/farmer/farmerhome

 

जिला दादरी में रबी के सीजन में गेहूं, बाजरा, चना, सरसों, जौ, दालें और फल, सब्जी आदि बागवानी फसलों की बीजाई की गई है। दालों का 20 हजार 653 एकड़, गेहूं का 47 हजार 88 एकड़, सरसों का एक लाख 31 हजार 235 एकड़, तोरिया का 279 एकड़, चने का 710 एकड़, सूरजमुखी एक एकड़ और अन्य फसलों का 53 हजार 449 एकड़ एरिया मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत किया जा चुका है।

https://fasal.haryana.gov.in/

मेरी फसल, मेरा ब्योरा

 

Recent Posts

गैस सिलेंडर के दामों में मची उथल-पुथल, नए नियमों के साथ बदल गए दाम, देखें आज का Low Price

Khetkhajana गैस सिलेंडर के दामों में मची उथल-पुथल, नए नियमों के साथ बदल गए दाम,… Read More

53 years ago

नकली जीरा से सावधान, नकली जीरा बनाने की फैक्ट्री पर छापा, पकड़ा गया 4198 किलो नकली जीरा

खेतखजाना पकना जीरा से सावधान, पकना जीरा बनाने की #फैक्ट्री पर छापा, पकड़ा गया 4198… Read More

53 years ago

दुनिया के ऐसे देश जहां होती है पानी की खेती, कोहरे और हवा से बना लेते है पानी

Khetkhajana दुनिया के ऐसे देश जहां होती है पानी की खेती, कोहरे और हवा से… Read More

53 years ago

खराब हुई फसलों के लिए मंजूर हुआ 3000 करोड़ का मुआवजा, सरकार किसानों के खातों में राशि भेजने की कर रही तैयारी

Khetkhajana खराब हुई फसलों के लिए मंजूर हुआ 3000 करोड़ का मुआवजा, सरकार किसानों के… Read More

53 years ago

This website uses cookies.

Read More